Point2point

खबरों का नया अंदाज!

राहुल गांधी के आदेश और गहलोत के सुझाव पर पायट ने किया यह बड़ा फैसला

नई दिल्ली: क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत के सबसे बड़े प्रदेश राजस्थान में विधानसभा की 200 सीटें पर सात दिसंबर को एक ही तरण में चुनाव होनी है। जिसके लिए सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी और मुख्य विरोधी कांग्रेस पार्टी दोनों जीत के दावे कर रही है। हालांकि इसका फैसला 11 दिसंबर को वोटों की गिनती के बाद होगा कि राजस्थान की सत्ता किसके हवाले जाती है।

Sachin Pilot and Ashok Gehlot will contest assembly elections

लेकिन इससे पहले भाजपा और कांग्रेस दोनों के बीच उम्मीदवार चुनने को लेकर काफी गहमागमी का दौरा चल रहा है। एक ओर भाजपा की पहली लिस्ट आने के बाद पार्टी में बगावती तेवत दिखाते हुए कई टिकट न मिलने से नाराजा कई नेताओं ने चुनाव से ठीक पहले पार्टी का साथ छोड़ दिया वहीं कांग्रेस पार्टी को इन्ही बातों का डर सता रहा है।

बता दें कि चुनावी तारीख नजदीक आ चुके हैं, लेकिन पार्टी की ओर से अब तक एक भी उम्मीदवार का ऐलान नहीं किया है। इस बीच राजस्थान कांग्रेस के दो बड़े नेता सचिन पायलट और अशोक गहलोत के चुनाव लड़ने या न लड़ने की बात पर पिछले काफी दिनों से चर्चा चल रही थी।

हालांकि अब इन दोनों नेताओं ने साफ कर दिया है कि वे दोनों चुनाव लड़ेंगे। बता दें कि सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच टकराव की खबरें अक्सर आती रही है। लेकिन विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान इन दोनों नेताओं ने एक हीं मच से किया है। दरअसल, मीडिया को संबोधित करते हुए गहलोत ने कहा कि वह विधानसभा चुनाव लड़गें। साथ ही उन्होंने पायल को लेकर भी कहा कि वह भी चुनाव लड़ेंगे।

वहीं इस दौरान विधानसभा चुनाव लड़ने को लेकर पायलट ने खुद भी कहा कि वह चुनावा लड़ेंगे। मीडिया के सवालों का जवान देते हुए पायलट ने कहा कि, “मैंने राहुल गांधी का आदेश और अशोक गहलोत के सुझाव पर विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया है”। साथ ही उन्होंने उम्मीदवारों के ऐलान की बात पर कहा कि जल्द ही सभी उम्मीदावारों के नाम का ऐलान किया जाएगा।