Point2point

खबरों का नया अंदाज!

कांग्रेसी भाई को हराकर भाजपा सांसद बने थे, अब कांग्रेस में हुए शामिल

नई दिल्ली: भाजपा शासित राज्य राजस्थान में विधानसभा चुनाव की चर्चाओं के बीच सत्ताधारी दल में गजब की स्थिकी दिख रही है। पार्टी द्वारा उम्मीदवारों की पहली सूची जारी बाद अब तक कई विधायकों ने पार्टी छोड़ दी है। बता दें कि बीजेपी ने इस बार के चुनाव में कई मौजूदा विधायकों को टिकट नहीं दिया है, जिससे नाराज नेता पार्टी से अलग होकर अकेले चुनाव लड़ने की तैयरियों में लगे हैं।

Rajasthan BJP mp Harish Meena joins congress

वहीं इस बीच बीजेपी को एक बड़ा झटका दिया है सांसद हरीश मीणा ने। दरअसल, राजस्थान में विधानसभा चुनाव की सरगर्मियों के बीच भारतीय जनता पार्टी के सांसद मीणा ने बुधवार को भाजपा का कमल छोड़ कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। चुनाव से ठीक पहले मीणा का यह कदम भाजपा के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है, जिसका खामियाजा पार्टी को आगामी लोकसभा चुनाव में भी भुगतना होगा।

आपको बता दें कि मीणा ने राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मौजूदगी में कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए हैं। राजस्थान की दौसा सीट से बीजेपी सांसद रहे मीणा के कांग्रेस पार्टी में शामिल होने के बाद अशोक गहलोत ने कहा कि, “कांग्रेस में शामिल होने के लिए देश भर में लोगों की कतार लगी गई”।

गहलोत ने कहा कि, इसी क्रम आज मीणा बिना किसी शर्त के कांग्रेस में शामिल हुए हैं। आपको बता दें कि साल 2014 के चुनाव में मीणा अपने बड़े भाई और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नमोनारायण मीणा को हराकर बीजेपी सांसद बने थे। बता दें कि पूर्व आईपीएस अधिकारी हरीश मीणा राज्य के पुलिस प्रमुख रहे चुके हैं, जो साल 2014 में ही बीजेपी में शामिल हुए थे और पार्टी ने ने उन्हें उनके ही बड़े भाई के खिलाफ चुनावी मैदान में उतारा था।