Point2point

खबरों का नया अंदाज!

IND vs WI मैच से पहले योगी सरकार ने बदल दिया लखनऊ स्टेडियम का नाम

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बने इकाना स्टेडियम में मंगलवार को भारत-वेस्टइंडीज के बीच तीन टी20 मैचों के सीरीज के तहत दूसरा मैच खेला जा रहा है। इससे पहले सोमवार को एक बड़ी खबर आई की प्रदेश की योगी सरकार ने इस स्टेडियम का नाम बदल दिया है।

lucknow Ekana Stadium name changed as Atal Bihari Vajpayee International Stadium

मिली जावनकारी के अनुसारा स्टेडियम के नाम बदलने के सरकार के फैसले को प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक से भी मंजूरी मिल गई है। बता दें कि करीब 24 सालों के लंबे इंतजार के बाद इस स्टेडियम पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला जाएगा, लेकिन इस पहले स्टेडियम का नाम इकाना स्टेडियम से बदलकर दिवंगत पूर्व पीएम के नाम पर रखा गया है।

इस शानदार स्टेडियम का नाम अब पूर्व पीएम भारत रत्न के नाम पर ‘अटल बिहारी वाजपेयी इंटरनेशनल स्टेडियम’ कर दिया गया है। आपको बता दें कि हाल ही में योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश के सबसे पुराने शहरों में से एक इलाहाबाद का नाम बदल कर प्रयाग राज कर दिया था।

India vs West Indies second t20 match in Lucknow Icona Stadium

सरकार के इस फैसले पर काफी विरोधी दलों के अलाव भी कई अन्य लोगों सवाल-जवाब किए लेकिन सरकार सभी सावालों का ‘ऐसिताहिक’ जवाब देते हुए अपने फैसले को सही ठहराया, ऐसे में अब स्टेडियम का नाम बदल कर सरकार ने विरोधी दलों को हमवा करने का एक और मौका दे दिया है।

हालांकि यहा विरोधी दलों को भी सवाल-जवाब काफी महंगा पड़ सकता है, क्योंकि यह नाम एस शख्सियत से जुड़ा है, जिनके सामने विरोधी भी सजदा करते नहीं थकते हैं। ऐसे में योगी सरकार के इस फैसले पर विरोधी दलों को न चाहते हुए नरम रूख अख्तिया करना पड़ेगा, क्योंकि चुनाव सिर पर है और जनता के बीच वाजपेयी ‘देवता’ तो नहीं देवता जैसे ही हैं।Atal Bihari Vajpayee International Stadium

वैसे अगर ‘अटल बिहारी वाजपेयी इंटरनेशनल स्टेडियम’ की बात करें तो इसमें 50 हजार दर्शकों की क्षमता है, इस मैदान को इस तरह से तैयार किया है कि दर्शक किसी भी कोने में बैठे हो मैच का बराबर आनंद ले सकेंगे। इसके इसके अलावा स्टेडियम में 9 पिच हैं जबकि शानदार ड्रेसिंग रूम के साथ दूधिया रोशनी इस स्टेडियम की कुछ खास खासियत है, जो देश का 10वां सबसे बड़ा स्टेडियम है।

मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को स्टेडियम में पहाल अंतरराष्ट्रीय मैच खेला जाएगा जहां प्रदेश के राज्यपाल और मुख्यमंत्री के साथ अन्य कई नेता और मंत्री भी मौजूद रह सकते हैं।