Point2point

खबरों का नया अंदाज!

छत्तीसगढ़:  पहले चरण की वोटिंग की पूरी जानकारी- झमाझम वोटिंग, 7 नक्सली ढेर, 5 कमांडो घायल, 12 गांव के लोग बंधक

रायपुर: नक्सल प्रभावित राज्य छत्तीसगढ़ की जनता ने वोट की चोट से नक्सलियों का मुंह काला कर दिया। वोटिंग से पहले नक्सलियों ने वोट डालने वाले की उंगलियां काट लेने की धमकी दी थी, लेकिन इसके बाद भी भारी संख्या में लोग वोट की चोट करने पहुंचे।

Full details of voting for Chhattisgarh assembly election 2018

राज्य में विधानसभा चुनाव के तहत पहले चरण में 18 सीटों पर करीब 70 फीसदी वोटिंग हुई है। चुनाव से पहले और चुनाव के दिन भी नक्सलियों के हमलों क बीच अच्छी वोटिंग हुई है, लेकिन पिछले चुनाव की तुलना में इस बार करीब पांच प्रतिशत कम मतदान हुए हैंय़

जानकारी के लिए सबसे अधिक नक्सल प्रभावित क्षेत्र दंतेवाड़ा के 12 गांवों में ग्रामीणों को वोट देने से रोकने के लिए नक्सलियों ने उन्हें बंधक बना लिया। जिसके कारण यहां वोटिंग प्रकिया काफी हद तक बाधित रही। इसके अलावा अन्य लगभग सभी क्षेत्रों की जनता ने नक्सलियों की धमकी से बेपराह होतकर वोटिंग करने पहुंचे।

बताया जाता है कि दंतेवाड़ा के निलावाया, बुरगुम, पोटाली, नहाडी, काकड़ी, बर्रेम, जबेली, रेवाली, एटपाल, जियाकोडता, पूजारी पाल और मुलेर गांव में लोगों को नक्सलियो ने बंधक बनाया था, जिसके कारण इस क्षेत्र लोग मतदान के लिए नहीं पहुंच सके।

इसके साथ ही बता दें कि बीजापुर के पामेड़ में नक्सलियों और सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन के बीच मुठभेड़ भी हुई, जिसमें पांच जवान घायल हुए है। वहीं पांच नक्सलियों के मारे जाने की भी खबर है। बताया जाता है कि वोटिंग के मद्देनजर सुरक्षाबल इलाकें में सर्च अभियान चला रहे थे, इसी दौरान नक्सलियों ने हमला कर दिया।

इसके अलावा सुकमा में सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में दो नक्सली मारे गए। साथ ही उनके पास से राइफल्स बरामद किए गए। इससे पहले नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के केतकल्याण ब्लॉक के तुमाकपाल कैंप के पास सुबह करीब 5:30 बजे आईईडी विस्फोट कर दिया जिसमें सुरक्षा बलों को निशाना बनाया, लेकिन नक्सली अपने मंसूबे में नाकाम रहे।